23 कट्ठा जमीन के लिए बड़े भाई ने छोटे भाई को चाकू से गोदकर मार डाला

23 कट्ठा जमीन के लिए बड़े भाई ने छोटे भाई को चाकू से गोदकर मार डाला

औरंगाबाद  । 23 कट्ठा जमीन के लिए एक बड़े भाई ने अपने हीं सहोदर छोटे भाई की चाकू से गोदकर हत्या कर दी। जबकि इस घटना में घर की एक महिला जख्मी हो गई। वहीं आरोपी भाई भी मारपीट में जख्मी हो गया है। घायलों का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। घटना ओबरा थाना क्षेत्र के छोटकी कदियाही गांव की है। मृतक 35 वर्षीय मिंटू मेहता उसी गांव निवासी रमेश मेहता का बेटा था। जख्मियों में आरोपी मिथिलेश मेहता व रेशु देवी शामिल है। घायलों का इलाज किया जा रहा है। घटना की सूचना मिलते ही ओबरा थाना पुलिस दल बल के साथ मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर तहकीकात शुरू कर दी। जख्मी रेशु कुमारी के बयान पर स्थानीय थाना में हत्या की एफआईआर दर्ज कर्रवाई। जिसमें तीन लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है। इस मामले में पुलिस मृतक के पिता रमेश मेहता को भी गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।
गुरुवार की सुबह जमीनी विवाद में बड़े भाई मिथिलेश और छोटे भाई मिंटू के बीच बहस हुई। फिर देखते हीं देखते दोनों आपस में भीड़ गए। दोनों तरफ से लाठी डंडा चलने लगा। मारपीट में दोनों जख्मी हो गए। इसी बीच दौड़कर मिथिलेश अपने घर में गया और चाकू लहराता हुआ आया। फिर जोर से चीखते हुए अपने भाई मिंटू मेहता पर चाकू से हमला कर दिया। वह ताबड़तोड़ उसे चाकू से गोदा। जैसे वह उसे हर हाल में जान लेना चहता है। यह देखते हीं मिंटू के बड़े और आरोपी से छोटे भाई की पत्नी रेशु कुमारी बचाने आई, लेकिन आरोपी ने उसे भी नहीं बख्शा और पीटकर जख्मी कर दिया। वह गंभीर रूप से जख्मी हो गई।
अरोपी भाई भी मारपीट में जख्मी, अस्पताल में भर्ती
परिजनों व रिश्तेदारों ने बताया कि मृतक तीन भाई है। उसके पिता रमेश मेहता के पास  कुल 23 कट्ठा जमीन है। जिसके लिए विवाद चल रहा था। रमेश ने अपनी कुल जमीन के बड़े बेटा आरोपी मिथलेश को दे दिया था। जिसके कारण वह उस जमीन में अपने भाईयों को हिस्सा नहीं दे रहा था। इसी कारण अक्सर भाईयों के बीच झगड़ा होता था। कई बार सुलह की कोशिश हुई, लेकिन उसका कोई हल नहीं निकला। लिहाजा विवाद बढ़ता चला गया। आरोपी पिता ने भी इस झगड़े खत्म करने के लिए बेटों के बीच सुलह कराकर बंटवारा नहीं कराया। यह विवाद घर में कई दिनों से सुलग रहा था। जो गुरुवार को घटना की वजह बना। इसके साथ पुलिस को ग्रामीणों ने घर में कई अन्य विवाद का कारण बताया। जिसपर पुलिस तहकीकात कर रही है।