ससुराल गए युवक की संदिग्ध स्थिति में मौत, परिजन का आरोप- हत्या की गई, जुलाई में हुई थी लव मैरेज शादी 

ससुराल गए युवक की संदिग्ध स्थिति में मौत, परिजन का आरोप- हत्या की गई, जुलाई में हुई थी लव मैरेज शादी 

औरंगाबाद । सोमवार की रात संदिग्ध स्थिति में ससुराल गए एक युवक की मौत हो गई। ससुराल वाले सदर अस्पताल में शव रखकर फरार हो गए। इसलिए उसने परिजनों ने कि ये सुनियोजित हत्या है। शव कब्जे में लेकर पुलिस तहकीकात में जुट गई है। घटना जम्होर थाना क्षेत्र के पिपरा गांव से जुड़ा है। मृतक 35 वर्षीय युवक सुधीर कुमार पाठक नगर थाना क्षेत्र के महावीर नगर मुहल्ला निवासी अवध किशोर का बेटा था। घटना की सूचना पाकर नगर थाना पुलिस सदर अस्पताल पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर तहकीकात शुरू की। फिर कागजी प्रक्रिया पूरी कर शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। घटना के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। परिजनों ने ससुरालवालों पर हत्या की आशंका जताई है। इस मामले में मृतक के चाचा संतोष पाठक द्वारा नगर थाना में आवेदन दिया गया है। जिसमें ससुरालवालों पर हत्या करने का आरोप लगाया है। नगर थानाध्यक्ष अंजनी कुमार ने बताया कि आवेदन मिला है। एफआईआर दर्ज कर उचित कार्रवाई की जाएगी। जांच पड़ताल की जा रही है।

दो दिन पहले गया था ससुराल
सूत्रों के अनुसार जुलाई महीने में जम्होर थाना क्षेत्र के पिपरा गांव निवासी रिंकू कुमारी से शादी किया था। दो दिन पहले ही वह अपने ससुराल पिपरा गया था। सोमवार की रात उसके ससुराल से परिजनों को फोन किया गया कि उसकी तबीयत खराब है। सदर अस्पताल में भर्ती है। सूचना पाकर आनन-फानन में परिजन सदर अस्पताल पहुंचे। जहां स्ट्रेचर पर पड़ा उसका शव देखा, पर कोई मौजूद नहीं था। जिसके बाद अस्पताल के डॉक्टर व गार्ड से पूछताछ की, लेकिन किसी ने कुछ नहीं बताया। 
सदर अस्पताल में पूछताछ करने के बाद किसी ने कुछ नहीं बताया तो परिजनों का गुस्सा फूट गया। परिजन सदर अस्पताल में हंगामा करने लगे। जिसकी सूचना पुलिस को मिली। सूचना के फौरन बाद पुलिस सदर अस्पताल पहुंची। फिर सीसीटीवी फुटेज चेक किया गया। जिसमें पता चला कि 10:58 में एक कार से दो लोग सुधीर को लेकर अस्पताल पहुंचे और फिर डॉक्टर चैंबर पहुंचे। डॉक्टरों द्वारा जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। डॉक्टर द्वारा पहले से ही मौत बताया गया है। जिससे परिजनों द्वारा आरोप लगाया गया कि हत्या कर साक्ष्य छुपाने के लिए सिर्फ सदर अस्पताल लाया गया है।