सोशल मीडिया पर प्यार के बाद प्रेमिका संग रहने लगा प्रेमी, लड़की के भाई ने मार डाला

सोशल मीडिया पर प्यार के बाद प्रेमिका संग रहने लगा प्रेमी, लड़की के भाई ने मार डाला

दरभंगा । चार माह पहले सोशल मीडिया के माध्यम से दो बच्चों की मां के संपर्क में आए अलीनगर थाने के मिल्की निवासी भागीरथ झा के 25 वर्षीय पुत्र रौशन झा का मंगलवार को गला रेता हुआ शव बरामद हुआ। उसका शव कथित प्रेमिका ज्योति के गांव मनीगाछी थाने के भंडारिसम के चतरा पोखर से पुलिस ने बरामद किया गया। बताया जाता है कि ज्योति और रौशन शादी कर लिए थे। हालांकि इसकी पुष्टि अधिकारिक तौर पर नहीं हुई है। इस संबंध में ज्योति के बड़े भाई गौतम ने अपने छोटे भाई ऋषि कुमार झा व उसके दोस्तों पर रौशन की हत्या का आरोप लगाते हुए मनीगाछी थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। थानाध्यक्ष राजनंदन कुमार ने बताया कि हत्यारों ने युवक की पोखर के बगल स्थित आम के बगीचे में गला रेत कर हत्या कर दी। उसके बाद शव पोखर में फेंक दिया। गला रेतने के दौरान सिर पर भारी चीज से वार भी किया गया है।
ज्योति मंगलवार की सुबह रौशन के गांव मिल्की उसका हालचाल लेने गई थी। वहां उसे पता चला कि उसका छोटा भाई ऋषि सोमवार की देर शाम मिल्की चौक से रौशन को स्कूटी से ले गया। यह सुनते ही वह अलीनगर थाना में सनहा दर्ज कराने के लिए पहुंची थी। थाना पर पहुंचते ही उसे जानकारी मिली कि रौशन की हत्या कर दी गई है। उसका शव पोखर में मिला है।

चार माह पहले ज्योति के संपर्क में आया था रौशन 
रौशन के मामा गोपालजी झा ने बताया कि 4 माह पूर्व भंडारिसम गांव की शादीशुदा व दो बच्चों की मां ज्योति कुमारी का संपर्क रौशन से हुआ। उसे लेकर वह घर से भाग गया था। कुछ समय बाहर रहने के बाद दो माह पहले वह ज्योति को लेकर मिल्की गांव आया, जहां 1 सप्ताह तक लड़की रही। उसके बाद वह यहां से भाग गई। लेकिन दोनों का संपर्क था। सोमवार की शाम करीब 6 बजे रौशन को फोन कर पकरी चौक पर बुलाया गया। उसे लाल रंग की स्कूटी पर चढ़ा कर एक व्यक्ति ले गया जो उस लड़की का छोटा भाई था। उसने ही उसकी हत्या कर दी। 
प्रेम के चक्कर में बुझा भगीरथ झा के घर का इकलौता चिराग 
रौशन झा की हत्या से परिजनों में कोहराम मचा है। उसके पिता भागीरथ झा मुंबई में वॉच मैन का काम करते थे। रौशन उनका इकलौता बेटा था। वह  गांव में रहकर ही छोटे-छोटे काम कर परिवार का भरण-पोषण करता था। अपनी अंधी मां व बहन का वही सहारा था। 42 वर्षीया उनकी मां विभा देवी किडनी की बीमारी से दोनों आंखों की रोशनी गंवा चुकी हैं। बेटे की मौत की खबर सुनकर वह बेसुध थीं।