समस्तीपुर में नाव का पतवार 11 हजार वोल्ट से सटा, करंट लगने से तीन युवक पानी में डूबे, एक की मौत, दो को लोगों ने बचाया

समस्तीपुर में नाव का पतवार 11 हजार वोल्ट से सटा, करंट लगने से तीन युवक पानी में डूबे, एक की मौत, दो को लोगों ने बचाया

समस्तीपुर । गंगा दियारा के दशहरा माझापर गांव में बुधवार दोपहर नाव का पतवार 11 हजार वोल्ट में सट जाते से नाव पर बैठे तीन लोगों को करंट का झटका लगा। इससे तीनों लोग गंगा नदी के बाढ़ के पानी डूब गए। हालांकि इस दौरान दो लोगों को बचा लिया गया जबकि एक युवक की डूब कर मौत हो गई। बचाए गए दोनों का उपचार निजी क्लीनिक में कराया जा रहा है। मृतक की पहचान माझापर गांव के विश्वनाथ राय के पुत्र प्रिंस कुमार 18 वर्ष के रूप में की गई है। जबकि उसी गांव के रामाधार राय के पुत्र मनीष कुमार राय 18 व सुरेन्द्र राय के पुत्र अनीष कुमार का उपचार निजी क्लीनिक में कराया जा रहा है। जिसमें मनीष की स्थिति गंभीर बनी हुई है। 
जानकारी के अनुसार दोपहर प्रिंस अपनी बुआ को बाढ़ के पानी से पार कराकर वापस गांव लौट रहा था। इसी दौरान उसके नाव का पतवार (लग्गी) 11 हजार वोल्ट के तार के संपर्क में आ गया। पतवार भींगी हुई थी। जिससे नाव पर करंट फैल गया। नाव में बैठे तीनों युवक करंट का झटका लगने से बाढ़ के पानी में गिर पड़े। जिससे पतवार थामे प्रिंस की डूब कर मौत हो गई। वहीं मनीष को लोगों ने छान कर निकाला जबकि अनीष खुद तैर कर बाहर निकल गया। 
नाव हादसे के बाद हल्ला होने पर जुटे लोगों ने तीनों को मोहिउद्दीननगर अस्पताल पहुंचाया,जहां चिकित्सक ने प्रिंस कुमार को मृत धोषित कर दिया, वहीं मनीष को प्राथमिक उपचार के बाद रेफर कर दिया। अनीष का उपचार जारी है। घटना की सूचना पर बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जुट गई। घटना की सूचना पर स्थानीय विधायक राजेश कुमार सिंह तथा पूर्व विधायक डा एज्या यादव ने अस्पताल पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया, साथ ही पीड़ित परिजनों को हर संभव सहायता प्रदान करने को कहा। अस्पताल पहुंचकर ओपी प्रभारी पवन कुमार ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल समस्तीपुर भेज दिया। इधर युवक की मौत की खबर मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।