समस्तीपुर में अंचल अधिकारी और सब इंस्पेक्टर घूस लेते गिरफ्तार, इधर पटना करोड़पति निकली सीडीपीओ ज्योति कुमारी

समस्तीपुर में अंचल अधिकारी और सब इंस्पेक्टर घूस लेते गिरफ्तार, इधर पटना करोड़पति निकली सीडीपीओ ज्योति कुमारी

पटना । पटना से समस्तीपुर पहुंची निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की टीम ने बड़ी कार्रवाई की है। मंगलवार को वारिसनगर के अंचलाधिकारी (सीओ) संतोष कुमार और मथुरापुर ओपी प्रभारी संजय कुमार सिंह ( सब इंस्पेक्टर) को रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ पकड़ा है। निगरानी विभाग की टीम ने यह कार्रवाई दोनों के दफ्तर से की। पीड़िता मंजू देवी ने निगरानी मुख्यालय में शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें कहा था कि जमीन मामले को रफा-दफा करने के लिए ओपी प्रभारी ने 25 हजार और सीओ संतोष कुमार 20 हजार रुपए मांग थे।।
मुख्यालय के आदेश पर आरोपों की जांच और पूरे मामले की पड़ताल के लिए एक स्पेशल टीम बनाई गई। टीम को लीड करने की जिम्मेदारी डीएसपी को दी गई। इसके बाद यह टीम समस्तीपुर पहुंची। ओपी प्रभारी और सीओ के आवास पर पूरा जाल बिछाया। इसके बाद जैसे ही मंजू देवी कैश लेकर पहुंची और दोनों ने उसे लिया, वैसे ही निगरानी की टीम ने रंगेहाथ पकड़ लिया।
निगरानी विभाग के इंस्पेक्टर सुशील कुमार यादव ने बताया कि जमीनी विवाद के एक मामले में दोनों ने पीड़िता मंजू देवी से रिश्वत की मांग की थी। इसी कड़ी में थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह को 25 हजार रुपए और सीओ संतोष कुमार को उनके कक्ष से 20 हजार रुपए लेते गिरफ्तार किया है।
इधर, पटना में 70 लाख तो भागलपुर में 25 लाख का फ्लैट, ICICI बैंक में मिले लॉकर को खंगालेगी SVU
पटना के धनरूआ में पोस्टेड सीडीपीओ ज्योति कुमारी करोड़पति निकली। उसके पास पटना और भागलपुर में फ्लैट हैं। इन दोनों फ्लैट के खरीददारी और इसके डेकोरेशन पर खर्च को मिला दें तो कुल कीमत 1 करोड़ से ऊपर की है। ज्योति कुमार अपने परिवार के साथ पटना के आरपीएस मोड़ के पास फ्लैट में रहती है। जिसकी कीमत 70 लाख रुपए है।
इस फ्लैट के अंदर डेकोरेशन में मोटी रकम खर्च की गई है। उसका 25 लाख रुपए की कीमत का भागलपुर में फ्लैट है। इन बातों की पुष्टि स्पेशल विजिलेंस यूनिट (SVU) की पड़ताल में हुई। टीम को फ्लैट से 4 लाख रुपए कैश भी मिले हैं।। कई बैंक खाते और लाखों के फिफ्स डिपॉजिट के डॉक्यूमेंट्स मिले हैं। साथ ही एलआईसी और रियल स्टेट में लाखों रुपए के इन्वेस्टमेंट के भी सबूत मिले हैं। इन सब के अलावा ICICI बैंक में ज्योति कुमारी का एक लॉकर भी मिला है। इसे भी टीम खंगालेगी।
दरअसल, ADG नैयर हसनैन के निर्देश पर SVU की टीम ने मंगलवार की सुबह 8 बजे सीडीपीओ के पटना वाले फ्लैट पर छापेमारी की। जो देर शाम तक चली। SVU का दावा है कि घंटों चली इस कार्रवाई के दौरान ज्योति कुमारी के ऊपर लगे आय से अधिक संपत्ति और ब्लैक मनी जमा कर दूसरे जगहों पर इंवेस्ट करने के आरोप सही पाए गए हैं। पब्लिक के जरिए SVU को धनरूआ की इस सीडीपीओ के काले कारनामों की जानकारी मिली थी। जिसके आधार एक इंटरनल जांच कराई गई थी। जिसमें सरकारी पद पर रहते हुए ज्योति कुमारी ने जमकर भ्रष्टाचार किया।
जांच में मिले सबूतों के आधार पर ही 22 नवंबर को सरकारी आमदनी से 51 लाख 36 हजार रुपए की ब्लैक मनी की FIR नंबर दर्ज की गई थी। फिर स्पेशल विजिलेंस कोर्ट से सर्च वारंट हासिल किया गया और आज कार्रवाई की गई। सबसे बड़ी बात यह है कि सीडीपीओ ने राज्य सरकार से भी झूठ बोला है। ज्योति कुमारी ने हर साल जमा की जाने वाली संपत्ति की जानकारी भी अधूरी भरी। बहुत सारी जानकारियां सरकार से छिपाई। SVU की कार्रवाई भी जारी है।