सुपौल में शराब तस्करों ने तीन लोगों को मारी गोली, एक की मौत

सुपौल में शराब तस्करों ने तीन लोगों को मारी गोली, एक की मौत

सुपौल । थाना क्षेत्र के बेलासिंगारमोती पंचायत स्थित बेला चौक पर शनिवार देर रात शराब कारोबार में संलिप्त बेखौफ अपराधियों ने 3 लोगों को गोली मार दी। इस घटना में घटनास्थल पर ही एक युवक की मौत हो गई। जबकि मृतक का भाई और घटनास्थल के पास युवक को बचाने के लिए पहुंचा एक स्थानीय युवक गंभीर रूप से घायल है। 
दोनों को अनुमंडलीय अस्पताल निर्मली से प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। दरभंगा स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। मृतक की पहचान निर्मली थाना क्षेत्र के महुआ गांव निवासी तुरंतलाल यादव के लगभग 24 वर्षीय पुत्र शिव कुमार यादव उर्फ शिवा के रूप में हुई। घायलों में मृतक शिवा का लगभग 26 वर्षीय भाई रामबालक यादव व बेलासिंगारमोती गांव निवासी बचाने आए लगभग 20 वर्षीय बेचन मेहता शामिल है। इधर, मृतक के पिता ने थाना में आवेदन देकर 3 लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया है। 

बताया गया कि शनिवार देर रात लगभग 12 बजे सिकरहट्टा-मझारी निम्न बांध सह सड़क पर घटना के बाद जख्मी रामबालक ने परिजन और थाने को घटना की सूचना फोन से दी। इसके बाद पुलिस व परिजनों द्वारा मृतक सहित घायलों को निर्मली स्थित अस्पताल लाया गया। जहां ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने शिव कुमार यादव को मृत घोषित कर दिया और अन्य दो घायलों को रेफर कर दिया।
गोली की आवाज सुन बचाने आए युवक को भी मार दी गोली
इधर, मृतक के पिता महुआ वार्ड 1 निवासी तुरंतलाल यादव ने आवेदन में कहा है कि शनिवार की देर रात उसका पुत्र शिवकुमार यादव व गांव के ही इंदल कुमार यादव दिघिया गांव से मेला देखकर बाइक से घर आ रहा था। इसी बीच मधुबनी जिले के अंधरामठ थाना क्षेत्र के महथौर गांव निवासी पवन कुमार यादव, देवेंद्र यादव व जीरोगा निवासी कपिल कुमार यादव ने ओवरटेक कर बाइक को रोक लिया और विवाद करने लगा। शिवा ने जानकारी दी तो रामबालक भी वहां पहुंचा। अपराधियों ने रामबालक पर गोलीबारी शुरू कर दी। रोकने पर अपराधियों ने शिवा पर भी गोलीबारी की। आवाज सुनकर बेचन महतो आए तो उसे भी अपराधियों ने गोली मार दी।
शराब पकड़वाने के संदेह पर गोली मारने का पिता ने लगाया आरोप 
मृत युवक के पिता ने कहा है कि गत 30 सितंबर को शराब कारोबारी पवन कुमार यादव द्वारा नेपाली शराब की खेप लूट की बाइक से पहुंचाने के क्रम में पुलिस छापेमारी हुई थी। उस दिन बाइक पर लदे शराब को छोड़कर वह भाग निकला था। इस मामले में निर्मली थाना में पवन सहित उसके साथियों पर केस दर्ज है। पवन और उसके साथियों ने पुलिस द्वारा शराब की खेप पकड़वाने में मेरे पुत्र पर संदेह किया और उसी का बदला लेने के उद्देश्य घटना को अंजाम दिया है। वहीं, निर्मली एसडीपीओ पंकज कुमार ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम में सदर अस्पताल भेज दिया है। दो लोगों को संदेह के आधार पर हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।