सीतामढ़ी में अंतरराज्यीय चोर इरफान की पत्नी जिला परिषद सदस्य बनी, गाजियाबाद में ढाई करोड़ के माल के साथ धराया था, 12 राज्यों की पुलिस को थी इरफान की तलाश

सीतामढ़ी में अंतरराज्यीय चोर इरफान की पत्नी जिला परिषद सदस्य बनी, गाजियाबाद में ढाई करोड़ के माल के साथ धराया था, 12 राज्यों की पुलिस को थी इरफान की तलाश

सीतामढ़ी । गाजियाबाद के जगुआर से ढाई करोड़ के चोरी के माल के साथ गिरफ्तार हुए कुख्यात चोर इरफान की बेगम गुलशन परवीन जिला परिषद क्षेत्र संख्या 34 से विजयी घोषित हुई है। इरफान को 12 राज्यों की पुलिस तलाश कर रही थी। वह महंगी कार में बैठकर चोरी की वारदातों को अंजाम देता था। गाजियाबाद में पुलिस के हत्थे चढ़ा अंतरराज्यीय चोर इरफान उर्फ उजाले सीतामढ़ी जिले के पुपरी का रहने वाला है। पहले उसके घर के लोग मजदूरी करते थे। इरफान अपनी परिवार की हालत सुधारने के लिए बाहर कमाने निकला। सालों बाद जब घर लौटा तो उसकी गिनती अमीरजादों में होने लगी। वह जब भी गांव आता था गरीब लोगों की आर्थिक मदद करता था। इस कारण गांव के लोग इरफान के समर्थक बनते गए। 

गुलशन ने अमजद को तीन हजार वोटों से हराया
जिला परिषद क्षेत्र संख्या 34 से इरफान की पत्नी गुलशन परवीन ने अपने प्रतिद्वंद्वी अहमद अली को 3062 मतों से पराजित कर दिया है। गुलशन को 6619 मत प्राप्त हुए। जबकि अमजद अली को 3657 मत मिले हैं।
सितंबर में गुलशन परवीन भी हुई थी गिरफ्तार 
इरफान चोरी की संपत्ति गांव के गरीबों में बांटा करता था। ग्रामीणों के अनुसार गत 7 सितंबर को यूपी की पुलिस इरफान के पुपरी स्थित गाढ़ा जोगिया घर पहुंची और स्थानीय पुलिस के सहयोग से उसकी पत्नी समेत तीन को गिरफ्तार किया था। लेकिन, कुछ दिन बाद ही पत्नी को जमानत मिल गई और वह जिला परिषद चुनाव की तैयारी में जुट गई।

पहली बार बहन की शादी के लिए की थी चोरी
करीब 10 साल पहले बहन की शादी में खर्च जुटाने के लिए पहली बार चोरी की थी। इसके बाद चोरी करना इसका पेशा बन गया। एक जज के घर में भी चोरी की थी।

चुनाव प्रचार में खूब किया था खर्च
इरफान ने पत्नी गुलनाज को इस बार जिला परिषद सदस्य पद के लिए नामांकन कराया। चुनाव प्रचार में भी खूब खर्च किया। गांव में विकास कार्य में भी इरफान खुले हाथों से पैसे खर्च करता था। इस दौरान उसने गांव में अपने खर्च से नाला का निर्माण कराया था। यहां तक कि मेडिकल कैंप लगवाकर गरीब लोगों का मुफ्त इलाज करवाता था।