लखीसराय में बदमाशों ने नक्सलियों के नाम पर 2 लाख मांगे, मना करने पर सीआरपीएफ जवान की पिटाई

लखीसराय में बदमाशों ने नक्सलियों के नाम पर 2 लाख मांगे, मना करने पर सीआरपीएफ जवान की पिटाई

लखीसराय । चानन थाना के धनबह गांव निवासी सीआरपीएफ जवान नवल कुमार शाह को बीच रास्ते में रोककर आधा दर्जन दबंगों के द्वारा रंगदारी मांगी। रंगदारी देने से मना करने पर बदमाशों ने जवान की पिटाई कर दी। ज्ञात हो कि सीआरपीएफ बैठे का इलाज करने के लिए छुट्टी लेकर घर आए हुए थे। सीआरपीएफ जवान नवल कुमार शाह ने घटना के बाद सीआरपीएफ जवान के द्वारा चानन थाना में उन दबंगों के खिलाफ आवेदन दिया है। दरअसल धनबह गांव निवासी नवल कुमार साह लातेहार झारखंड में सीआरपीएफ में कांस्टेबल पद पर कार्यरत हैं। वे कुछ दिन पहले ही अपने पुत्र की तबियत खराब होने पर छुट्टी लेकर घर आये हैं। जवान नवल कुमार शाह ने बताया बताया कि 8 अगस्त दिन रविवार को अपने पुत्र के बवासीर की जड़ी बूटी की दवाई के लिए कछुआ वैद्य जी के पास जा रहा था कि रास्ते में शिवनंदन यादव, कपिलदेव यादव दोनों के पिता बिशो यादव, विमलेश यादव, शैलेश यादव, कमलेश यादव, संजीव यादव चारो के पिता शिवनंदन यादव एवं प्रमोद यादव कपिलदेव यादव,मुरारी यादव पिता सुदामा यादव पहले से ही लाठी डंडे के साथ मौजूद था। सीआरपीएफ जवान नवल कुमार साह ने बताया कि जब मैं कछुआ जाने के दौरान पुल पर पहुंचा तो पहले से मौजूद शिवनंदन यादव ने मुझे अभद्र गाली देते हुए मेरा बाइक रोक दिया और बोला कि नक्सलियों के द्वारा तुमसे दो लाख रुपये की मांग की गई है। इस पर मैंने कहा कि मैं साधारण आदमी हूं मैं इतनी राशि कहां से दे पाऊंगा। इतने कहते ही वहां मौजूद सभी लोगों ने मुझपर लाठी डंडे और लोहे की छड़ से हमला कर दिया। इस दौरान मेरे पॉकेट से पांच हजार रुपये नकद एवं मेरे गले से 10 ग्राम की सोने की चेन छीन ली। वहीं मारपीट के दौरान मेरे द्वारा हल्ला करने पर आस पास के ग्रामीण दौड़ पड़े। ग्रामीणों को आता देख वे लोग भाग खड़े हुए।जिसके बाद ग्रामीणों की मदद से मुझे इलाज के लिए सदर अस्पताल लखीसराय भेजा गया।