मॉब लिंचिंग : भतीजे ने चाचा की गोली मार हत्या की तो ग्रामीणों ने पीट-पीटकर मार डाला

मॉब लिंचिंग : भतीजे ने चाचा की गोली मार हत्या की तो ग्रामीणों ने पीट-पीटकर मार डाला

सीवान । मीरपुर गांव में गुरुवार की सुबह करीब दस बजे बकाया मांगने पहुंचे चाचा की भतीजे ने गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद घटना से गुस्साए गांव के लोगों ने दौड़ाकर आरोपी भतीजे को पकड़ा और पीट-पीटकर उसकी भी जान ले ली। मृतक चाचा की पहचान मीरपुर निवासी 60 वर्षीय सत्यदेव गोड़ के रूप में हुई है। जबकि भतीजा 30 वर्षीय ओमप्रकाश गोड़ है। जानकारी के मुताबिक सत्यदेव कुछ माह पहले ही परिवार के साथ दिल्ली से घर लौटे थे। फायरिंग की आवाज सुनने के बाद घटनास्थल पर ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। एक ही गांव में दो लोगों की हत्या की घटना के बाद से पूरे गांव में कोहराम मच गया। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। हत्या के पीछे दोनों के बीच पैसे का लेनदेन बताया जा रहा है।
भतीजे पर पहले से ही है हत्या-तस्करी का केस
ओमप्रकाश के विरुद्ध शराब की तस्करी और हत्या के कई मामले थाने में दर्ज हैं। वह कुछ दिन पहले ही जेल से छूटकर घर आया था। गुरुवार को रुपए के लेन-देन को लेकर चाचा भतीजे के घर पहुंचा था। दोनों में कहा-सुनी हुई और फिर धक्का-मुक्की होने लगी। फिर ओमप्रकाश ने चाचा के करीब जाकर उसके सीने में गोली मार दी।
घटनास्थल पर नहीं मिली बंदूक, साथी फरार
गोली की आवाज सुनकर ग्रामीणों में अफरा-तफरी मच गयी। घटना के बाद भतीजा बंदूक फेक कर भागने लगा। इसी बीच ग्रामीणों ने उसे घेरकर पकड़ लिया और उसकी भी जान ले ली। आंदर थानाध्यक्ष मनोज कुमार घटनास्थल पहुंच पर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सीवान सदर अस्पताल भेज दिया। पुलिस को घटनास्थल से बंदूक नहीं मिली है।