पिस्तौल के बल पर महिला का अपहरण कर घर में बंद कर कई दिनों तक किया शोषण, जबरन शादी भी की

पिस्तौल के बल पर महिला का अपहरण कर घर में बंद कर कई दिनों तक किया शोषण, जबरन शादी भी की

विवाहिता ने एसपी को आवेदन देकर न्याय की लगाई गुहार
महिला ने छिप कर पति से संपर्क कर उसके साथ भाग कर आई घर
सीतामढ़ी । रुन्नीसैदपुर थाना क्षेत्र के टिकॉली गांव निवासी एक विवाहिता ने पुलिस अधीक्षक को दिए आवेदन में कहा है कि उसकी ससुराल नानपुर थाना क्षेत्र के चोरौत गांव में है। बीते सात जून को रुन्नीसैदपुर थाना क्षेत्र के टिकॉली गांव निवासी उदेश महतो उसके मोबाइल पर फोन कर के बोला कि मैं तुम्हारी मां से सात हजार रुपए लिया था, सो देना है। घर से बाहर निकल कर आओ। घर से बाहर निकलने पर एक चार चक्का वाहन खड़ी थी। जिसमें टिकौली गांव निवासी उदेश महतो, बिजली महतो, बजरंगी महतो, हथौड़ी थाना के उमेश महतो सभी ने मिलकर जबरन पिस्तौल के बल पर गाड़ी में बैठा लिया। साथ ही गमछा से उसका मुंह बांध दिया। उसके बाद सभी लोग उदेश महतो के बहनोई के घर कफेन गांव ले गए और घर में बंद कर जबरन शारीरिक संबंध बनाया। उसके बाद उसे महाराष्ट्र ले जाया गया। गत 15 जून को उदेश महतो उसे बेरवाश अपने नानी के घर ले गया। 20 जून को जबरन स्टाम्प पेपर पर शादी का हस्ताक्षर करवाया और सभी लोगों के द्वारा एक कमरे में बंद कर दिया गया और कहा गया कि अगर हल्ला करोगी, तो तुम्हारे पति व मां को जान से मरवा दूंगा। इस बीच किसी तरीका से वह छुप कर पति से संपर्क कर पति के साथ घर आई।
मामले में पति के द्वारा इसकी शिकायत नानपुर थाने से की गई। परन्तु, कोई कार्रवाई नहीं हुई। पीड़िता ने आवेदन के अंत में बताया है कि वह दो माह की गर्भवती भी है। पीड़िता ने दोषियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की मांग की है।