प्रेम-प्रसंग में युवक की हत्या कर सिर काटा, बोरे में बंद मिला धड़, प्रेमिका गिरफ्तार

प्रेम-प्रसंग में युवक की हत्या कर सिर काटा, बोरे में बंद मिला धड़, प्रेमिका गिरफ्तार

आरा । स्थानीय जगदीशपुर थाना क्षेत्र में नगर पंचायत के वार्ड नंबर-16, जगा के पीपल मुहल्ला से 6 दिन पहले एक युवक को अगवा करने के बाद नृशंस तरीके से उसकी हत्या कर दी गयी। सोमवार की रात युवक का सिरकटी लाश मिली। इसके बाद इलाके में सनसनी फैल गयी। मृतक का नाम राजेश कुमार उर्फ अनुज गोंड (22 वर्ष) था। वह जगा के पीपल मुहल्ला निवासी शिवधारी गोंड के पुत्र थे। मृतक के शव की पहचान कपड़े के आधार पर की गयी। वह फिलवक्त सासाराम में स्थित एक पेट्रोल टंकी पर कर्मी था। मृतक का शव उसके घर से लगभग डेढ़ किमी की दूर मोर्चा गांव के समीप बोरे में बंद झाड़ी में क्षत-विक्षत हालत में मिला। जबकि, मंगलवार की सुबह झाड़ी से लगभग 100 मीटर की दूरी पर गड्ढे में फेंकी अवस्था में युवक की बाइक को पुलिस ने बरामद किया। युवक का मोबाइल फोन अभी नहीं मिल पाया है। मृत युवक का धड़ मिला है, सिर अभी तक नहीं मिल पाया है। युवक का धड़ से सिर काटकर गायब करने के साथ-साथ पैर और हाथ भी काटा गया है। प्रथम-दृष्टया जांच में प्रेम-प्रसंग में हत्या किए जाने की बात सामने आयी है। मृतक के पिता हलवाई हैं। अनुज इकलौता संतान था। अगले साल फरवरी में उसकी शादी की तिथि तय थी।
प्रेमिका व उसके भाई और पिता को भी पुलिस ने पकड़ा
पूछताछ व जांच में पुलिस को जानकारी मिली है कि युवक के प्रेमिका के आक्रोशित परिजनों ने वीभत्स तरीके से इस हत्या की घटना को अंजाम दिया। साक्ष्य छिपाने के लिए सिर को गायब कर दिया है। बताया जाता है कि इस मामले में प्रेमिका, उसके भाई व पिता समेत 8 लोगों को पहले पुलिस ने हिरासत में लिया था। बाद में प्रेमिका, उसके दो भाई और पिता को गिरफ्तार कर लिया। एसडीपीओ श्याम रंजन किशोर ने बताया कि सभी बिन्दुओं पर तहकीकात की जा रही है।

ट्यूशन पढ़ने आती थी युवती, 6 माह पहले शुरू हुआ था प्यार
बताया जाता है कि मोर्चा टोला गांव की एक युवती अपने गांव से लगभग डेढ़ किमी की दूरी पर जगदीशपुर के जगा का पीपल मुहल्ला में ट्यूशन पढ़ने के लिए आती थी। इसी क्रम में युवक और युवती के बीच प्रेम हो गया और दोनों के बीच लगभग 6 माह से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। संभावना है कि प्रेमिका से मिलने युवक घर से निकला था। इसी अफेयर में मोर्चा टोला गांव के उक्त युवती के परिजनों पर युवक की हत्या कर शव को फेंके जाने का आरोप लगाया गया है।
13 अक्टूबर रात से गायब था युवक, बाइक से निकला था मेला घूमने
रोहतास के सासाराम शहर में पेट्रोल पंप पर राजेश उर्फ अनुज काम करता था। वह सासाराम से 12 अक्तूबर की सुबह अपने घर दशहरा पर्व मनाने आया था। वह 13 अक्टूबर को रात में बाइक लेकर घर से पूजा पंडाल घूमने निकला था। रात 11 बजे तक जब वह घर नहीं लौटा। तब परिजनों की चिंता बढ़ने लगी। उसका मोबाइल फोन भी स्वीच ऑफ बता रहा था। इसके बाद परिजनों ने अपने स्तर से खोजबीन शुरू की। लेकिन अनुज का कहीं कोई अता-पता नहीं मिला। इकलौते बेटे का सुराग नहीं मिलने पर थक-हार कर पिता शिवधारी गोंड़ ने जगदीशपुर थाना में आवेदन देकर अपने बेटे के गायब होने की शिकायत दर्ज करायी। इसके आधार पर पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज कर छानबीन में जुटी।

प्रेमिका के परिजनों से पूछताछ से खुला हत्या का राज
बताया जाता है कि पुलिस ने वैज्ञानिक तरीके से केस की अनुसंधान शुरू की। मोबाइल फोन से मिले तकनीकी क्लू के आधार पर पुलिस ने सबसे पहले युवक के प्रेमिका, उसके पिता व भाई को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की। इसके बाद नृशंस हत्याकांड की परत-दर-परत खुलती चली गई। सोमवार की रात पुलिस ने सिर कटी शव को बरामद कर पहचान करने के लिए अनुज के परिजनों को बुलाया था। कालीधारी वाले पीले रंग की शर्ट व हाफ पैंट को देख परिजनों ने बताया कि अनुज यही कपड़ा पहनकर पिछले 13 अक्टूबर की रात को घर से निकला था। पुलिसिया जांच बढ़ने पर क्लू मिलते चले आए।