प्रेम प्रसंग में नाबालिग बहन को घर से भगा ले गया भाई, बिगड़ी तबीयत तो बहन को अकेले छोड़कर हुआ फरार, मौत

प्रेम प्रसंग में नाबालिग बहन को घर से भगा ले गया भाई, बिगड़ी तबीयत तो बहन को अकेले छोड़कर हुआ फरार, मौत

जमुई । जमुई जिले के मननपुर क्षेत्र के भंडार गांव में चचेरे भाई ने बहन को प्रेम के जाल में फंसा कर कुछ महीने पहले झाझा से फरार हो गया था। लेकिन बाद में जैसे ही लड़की की तबयत बीगड़ी तो उसने नाबालिग को बहन के घर छोड़कर भाग निकला। ऐसे में आज यानि शुक्रवार को पुष्पांजलि अस्पताल में इलाज के दौरान उक्त लड़की की मौत हो गई। मृतक लड़की की पहचान लखीसराय मननपुर गांव के राजकुमार ठाकुर की पुत्री अनु कुमारी (17 वर्ष) के रूप में की गई है।
मृतक लड़की के पिता ने बताया कि मेरी बेटी झाझा के सोहजाना गांव में अपने नानी के घर रह कर पढ़ाई कर रही थी। जहां 6 फरवरी 2021 को देर शाम जब घर पर कोई नहीं था, तब एडमिट कार्ड देने के बहाने लड़का मेरी बेटी को भगाकर ले गया। बाद में हम लोगों ने काफी खोजबीन भी की लेकिन अनु नहीं मिली। हमने इसकी सूचना 13 दिनों के बाद झाझा थाने को दिया गया। जहां लड़का रविंद्र कुमार ठाकुर, आरोपी के पिता शिवदानी ठाकुर, शिवदानी ठाकुर के पिता बिंदेश्वरी ठाकुर, मां वीणा देवी, भाभी आशा देवी, भाभी के पति धर्मेंद्र ठाकुर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराया गया था। ये सभी लखीसराय के भंडार मननपुर के ही निवासी है।
वहीं, मृतक लड़की के पिता ने बताया कि मेरी बेटी नाबालिग थी। उसे बहला-फुसलाकर लुधियाना ले गया था। जहां लड़के के द्वारा मारपीट भी किया जाता था और वीडियो कॉल पर दिखाया भी जाता था। अचानक नो महीने के बाद आरोपी ने मेरी बेटी को मेरी बहन जो जमुई में रहती है उसके घर पर बेहोशी के हाल में फेंक कर भाग गया। बाद में हमने उसे इलाज के लिए पुष्पांजलि हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के क्रम में आज उसकी मौत हो गई।
इधर घटना के बारे में थाना प्रभारी राजेश शरण ने बताया कि यह एक पुराना मामला था जिसमें अपहरण को लेकर प्राथमिकी दर्ज कराया गया था। जहां आज इलाज के दौरान लड़की की मौत हो गई। लड़की की शव पोस्टमार्टम की प्रक्रिया सदर अस्पताल जमुई चल रही है।