प्यार में मिला धोखा: तीन महीने पहले प्रेम विवाह किया, महिला ने थाने में खाया जहर; पति से हुई थी अनबन

प्यार में मिला धोखा: तीन महीने पहले प्रेम विवाह किया, महिला ने थाने में खाया जहर; पति से हुई थी अनबन

मोतिहारी । शहर के महिला थाना की बैरक में पटना से शिकायत करने पहुंची एक नवविवाहिता ने जहर खाकर जान दे दी। मृतका जहानाबाद के घोसी थाना क्षेत्र के अमरपुर गांव निवासी 23 वर्षीय श्रेया शर्मा थी। नवविवाहिता की मौत की सूचना पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। मौत की सूचना मिलते ही जिला पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंच मामले की जांच में जुट गए। इधर, सूचना पर पहुंची नगर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बाद में रांची से परिजनों के पहुंचने पर शव का पोस्टमार्टम कराया गया। श्रेया की मां उषा शर्मा ने पुलिस को बताया है कि गोविंदगंज थाना क्षेत्र के मुड़ा गांव निवासी राहुल कुमार से गत 16 अगस्त को शादी हुई थी। राहुल की रजामंदी से श्रेया के साथ रांची के आर्य समाज मंदिर में शादी हुई थी। शादी के दूसरे दिन ही दोनों पटना चले गए थे। जहां राहुल के साथ श्रेया पटना के अनिशाबाद में रहती थी। वह फिलहाल एमकॉम की पढ़ाई कर रही थी। वहीं राहुल एक निजी कंपनी में कार्यरत है। 
चार दिन पूर्व पति पटना में छोड़कर हो गया था फरार
श्रेया के भाई रवि शर्मा ने बताया कि शादी के बाद राहुल अक्सर डेरा बदलकर रहता था। कहा कि 28 अक्टूबर को राहुल के पिता सुशांत सिंह उसे लेकर पटना से गांव चले गए। इसके बाद श्रेया पटना में अकेली हो गई थी। श्रेया की मां उषा शर्मा ने बताया कि राहुल जब उसे पटना में छोड़कर फरार हो गया। इसके बाद श्रेया ने पटना एसएसपी कार्यालय में पहुंचकर शिकायत की। इसके बाद पुलिस ने उसे कंप्लेन नंबर देकर मोतिहारी महिला थाना भेज दिया। जब श्रेया महिला थाना पहुंची तो उसे कोई कंप्लेन नहीं आने की जानकारी देते उसकी शिकायत दर्ज नहीं की गई। इसके बाद उनके आग्रह के बाद श्रेया को महिला थाना की बैरक में खाना खाने के बाद रख दिया गया।

   जहर खाने से उसकी स्थिति बिगड़ने पर पुलिस ने सदर अस्पताल में कराया भर्ती
नगर थानाध्यक्ष विजय प्रसाद ने बताया कि रात में खाना खाने के बाद श्रेया महिला थाना की बैरक में सोने चली गई। इसके बाद वह बाथरुम जाने के लिए निकली। इस दौरान उसने जहर खा ली। देर रात उल्टी की शिकायत मिलने पर उसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गई। शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया है। इधर, परिजनों ने श्रेया के पास जहर कैसे पहुंचा इसकी जांच की मांग की है।
सात लोगों पर दर्ज की गई प्राथमिकी
थानाध्यक्ष ने बताया कि श्रेया की मां उषा देवी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। उसने श्रेया के पति गोविंदगंज थाना क्षेत्र के मुड़ा गांव निवासी राहुल कुमार, ससुर सुशांत सिंह, सास, ननद के अलावा दो रिश्तेदार रंजन कुमार व विवेक को आरोपित किया है। कहा है कि शादी के बाद से ही उक्त आरोपित दहेज में 20 लाख रुपए की मांग करने लगे। मांग पूरी नहीं होने पर उसे खाना भी नहीं दिया जाता था तथा मानसिक व शारीरिक रुप से प्रताड़ित किया जाता था। 
संभावित ठिकानों पर पुलिस कर रही छापेमारी
थानाध्यक्ष विजय प्रसाद राय ने बताया कि आरोपितों के संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। शहर के गोपालपुर मोहल्ला के अलावा संग्रामपुर व गोविंदगंज थाना क्षेत्र के अलग-अलग जगहों पर भी छापेमारी की गई है। हालांकि अबतक आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।   
दंडाधिकारी की मौजूदगी में शव का हुआ पोस्टमार्टम
दंडाधिकारी अजीत कुमार व सदर अंचल के सीओ शिवाजी सिंह की मौजूदगी में चार सदस्यीय मेडिकल टीम ने शव का पोस्टमार्टम किया। टीम में डॉ. गगनदेव प्रसाद, डॉ. अवधेश कुमार, डॉ. अनुप कुमार व डॉ. मुकेश कुमार शामिल थे। इस दौरान पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई। महिला थाना की बैरक में नवविवाहिता की मौत की सूचना पर एएसपी अभियान ओमप्रकाश सिंह, मुख्यालय डीएसपी सतीश सुमन, सदर एसडीपीओ अरुण कुमार गुप्ता, प्रशिक्षु डीएसपी विनिता सिंहा, मुफस्सिल इंस्पेक्टर विश्वमोहन चौधरी, नगर थानाध्यक्ष विजय प्रसाद राय, महिला थाना की दारोगा आरती ठाकुर समेत कई अधिकारी सदर अस्पताल पहुंचकर मामले की जानकारी लिए।