नवविवाहिता को फांसी के फंदे से लटकाया, जमीन से छू रहे थे पांव, ससुराल वाले फरार

नवविवाहिता को फांसी के फंदे से लटकाया, जमीन से छू रहे थे पांव, ससुराल वाले फरार

चार माह पहले हुई थी शादी, दहेज लोभियों ने दहेज की खातिर कर दी हत्या
जमुई । दहेज लोभियों ने नवविवाहिता की हत्या कर उसके शव को फंदे से लटका दिया और उसकी तस्वीर लेकर आत्महत्या बताने की कोशिश की गई। ली गई तस्वीर में युवती का शव फंदे से झूल तो रहा है, लेकिन उसका दोनों पैर जमीन पर और घुटना मुड़ा हुआ है जिससे यह प्रतीत होता है कि पहले उसकी हत्या की गई और फिर उसके शव को फंदे से लटकाकर उसे आत्महत्या दिखाने का प्रयास किया जा रहा है। घटना बरहट थाना क्षेत्र के लकरा गांव की है। गांव निवासी रंजन मंडल की बेटी सोनी कुमारी को पश्चिम बंगाल के वर्धमान जिले के पड़ोसिया में ससुराल वालों ने दहेज के लिए एक नवविवाहिता को फांसी के फंदे से लटका दिया। घटना की सूचना नवविवाहिता के परिजनों को दी गई। परिजन घटनास्थल पर पहुंचे तो ससुराल वालों ने नव विवाहिता द्वारा आत्महत्या कर लिए जाने की बात बताई गई। नवविवाहिता के परिजनों ने घटना की सूचना पश्चिम बंगाल पुलिस को दी। ज्यों ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची ससुराल पक्ष के सभी फरार हो गए। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पहले उसका पोस्टमार्टम कराया और फिर मृतक के परिजनों से लिखित आवेदन लेकर शव को परिजनों को सौंप दिया।

पिता ने 50 हजार की व्यवस्था कर मामले को कराया था सेटल
लडकी के पिता ने पुत्री को प्रताड़ना से बचाने के लिए किसी तरह व्यवस्था कर 50 हजार रुपये भी दिए गए। इसके बाद दहेज लोभियों का मनोबल और अधिक बढ गया। वे लोग फिर से पैसे की मांग करने लगे। लडकी के पिता द्वारा 10-10 हजार रुपये करके कई बार दिए लेकिन ससुराल वालों द्वारा नवविवाहिता को प्रताड़ित किए जाने का सिलसिला नहीं थमा। घटना के एक माह पूर्व पिंटू अपनी पत्नी को पड़ासिया ले गया और दहेज़ के लिए दूसरी शादी करने की नियत से उसकी हत्या कर देने की सुनियोजित तरीके से योजना बनाई। परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर पिंटू ने गले में रस्सी बांधकर नवविवाहिता की हत्या कर दी और घर के बरामदे पर फांसी लगाकर नवविवाहिता के शव को टांगकर घटना को आत्महत्या का रूप देने का प्रयास किया।
चार माह पूर्व सोनी कुमारी की धूमधाम से हुई थी शादी
चार माह पूर्व लकरा निवासी रंजन मंडल ने अपनी बेटी सोनी की शादी तेतरिया निवासी स्व. रघुनंदन रावत के पुत्र पिंटू कुमार के साथ हिंदू रीति-रिवाज के साथ कराई थी। पिंटू के पिता बंगाल के पड़ोसिया में कोल फील्ड में नौकरी करते थे। कुछ दिन पूर्व पिंटू के पिता का आकस्मिक निधन हो गया था। पिंटू को अनुकंपा के आधार पर पिता की जगह नौकरी मिलनी थी। इधर, शादी के बाद से ही पिंटू और उसके परिवार के अन्य सदस्यों द्वारा नवविवाहिता से दहेज की राशि कम देने की शिकायत की जाने लगी और 50 हजार रुपये की मांग की गई। 

परिजनों ने 12 लोगों को बनाया नामजद आरोपी
घटना के बाबत मृतक के परिजनों ने वर्धमान जिले के न्यू केंदा थाना में दोषियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई। पीड़ित द्वारा पुलिस को दिए गए आवेदन में नवविवाहिता के पति पिंटू रावत सहित कुल 12 लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया। इसमे पिंटू की मां शोभा देवी, बहन सरिता देवी, रीता देवी, लाली देवी, चुन्नी देवी, बहनोई जयराम रावत, शंभु रावत, पंकज रावत, कुंदन रावत, भाई ट्विंकल रावत व भांजा रितेश कुमार का नाम शामिल हैं। इधर फरार चल रहे सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए न्यू केंदा थाने की पुलिस छापेमारी कर रही है।