नालंदा में झाड़ फूंक के बाद बच्चे की मौत हुई तो पंचायत ने लगाया जुर्माना, तांत्रिक ने जुर्माना नहीं भरा तो तलवार से काट डाला

नालंदा में झाड़ फूंक के बाद बच्चे की मौत हुई तो पंचायत ने लगाया जुर्माना, तांत्रिक ने जुर्माना नहीं भरा तो तलवार से काट डाला

बिहारशरीफ । मानपुर थाना क्षेत्र के गोंगड़ीपर गांव में बुधवार को तलवार से काटकर तांत्रिक की हत्या कर दी गई। तांत्रिक ने बीमार बच्चे का झाड़फूंक के माध्यम से इलाज किया था लेकिन कुछ दिन बाद बच्चे की मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद परिजनों ने पंचायत बुलाई थी जिसमें तांत्रिक पर एक लाख का जुर्माना लगाया गया था। जुर्माना नहीं देने पर घटना को अंजाम दिया गया। मृतक स्व. पातो पंडित के पुत्र छोटे लाल पंडित झाड़ फूंक के अलावा राजमिस्त्री का काम भी करते थे। हत्या की सूचना पाकर पुलिस गांव पहुंची तब तक सभी बदमाश भाग गए थे। मृतक के पुत्र धर्मेंद्र पंडित ने नंदू पासवान व उसके सहयोगियों को आरोपित कर केस दर्ज कराया। पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी में जुटी है।
धर्मेंद्र पंडित ने बताया कि नंदू पासवान के घर का आठ वर्षीय एक बच्चा काफी दिनों से बीमार था। उसके परिवार ने छोटे लाल पंडित से उसकी झाड़ फूंक कराई थी। इसी दौरान दो दिन पूर्व बच्चे की मौत हो गई। इसके बाद बदमाशों ने पंचायती लगाकर कथित तांत्रिक को एक लाख जुर्माना देने को कहा। गरीबी के कारण पिता जुर्माना नहीं दे सके। इस कारण सुनियोजित तरीके से तलवार से काट उनकी हत्या कर दी गई। ग्रामीणों ने बताया कि अंधविश्वास के चक्कर में दो लोगों की जान चली गई। बच्चा काफी दिनों से बीमार था। परिजन उसका इलाज कराने के बजाय झाड़ फूंक करा रहे थे। बच्चे को तेज बुखार की शिकायत थी। सदर डीएसपी डॉ. मो. शिब्ली नोमानी ने बताया कि दोनों पक्षों में पंचायती हुई थी। जिसकी सूचना पुलिस को नहीं दी गई। थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार ने बताया कि पुत्र के बयान पर केस दर्ज कर पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

बीमार बच्चे को इलाज के लिए नहीं ले गए थे अस्पताल
ग्रामीणों ने बताया कि इलाज के अभाव में बच्चे की जान गई। बच्चा काफी दिनों से बीमार था। परिवार के लोग उसे अस्पताल ले जाने के उसका बजाय झाड़ फूंक करा रहे थे। अंधविश्वास ने दो की जान ले ली। 
आरोपितों की जल्द होगी गिरफ्तारी
सदर डीएसपी डॉ. मो. शिब्ली नोमानी ने बताया कि दोनों पक्षों में पंचायती हुई थी। जिसकी सूचना पुलिस को नहीं दी गई। एक लाख रुपया देने से इंकार पर हत्या का आरोप है। थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार ने बताया कि पुत्र के बयान पर केस दर्ज कर पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिवार के हवाले कर दिया गया।