नक्सलियों ने लेवी के लिए डीलर पुत्र को किया अगवा, मुठभेड़ में हार्डकोर नक्सली मारा गया, 3 जिलों में एसटीएफ और पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी

नक्सलियों ने लेवी के लिए डीलर पुत्र को किया अगवा, मुठभेड़ में हार्डकोर नक्सली मारा गया, 3 जिलों में एसटीएफ और पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी

लखीसराय । नक्सलियों के हाथों अपह्त डीलर पुत्र दीपक कुमार की 24 घंटे बाद भी बरामदगी नहीं हो सकी है। पुलिस और एसटीएफ के जवान दीपक की तलाश में लखीसराय, मुंगेर और जमुई के पहाड़ी व वनक्षेत्र में लगातार सर्च अभियान चला रही है। बता दें कि शनिवार रात करीब 8.30 बजे के आस-पास पीरीबाजार थाना से मात्र 500 मीटर दूर चौकरा गांव निवासी जविप्र के डीलर भागवत मेहता के घर पर धावा बोलकर सैकड़ों नक्सलियों ने उनके पुत्र दीपक कुमार (26 वर्षीय) को अगवा कर लिया था। जिसके बाद चले सर्च ऑपरेशन में नक्सलियों संग हुए मुठभेड़ में जवानों ने प्रमोद कोड़ा नामक हार्डकोर नक्सली को ढेर किया। प्रमोद की लाश के पास से एके-47 के साथ-साथ अत्याधुनिक हथियार भी बरामद किए गए। दीपक की बरामदगी के लिए जवान लठिया जंगल के अलावा, घोघी कोड़ासी, बंगालीबांध, दुधम, बरमसिया, शीतला कोड़ासी, बंगाली बांध के अलावा पीरीबाजार और कजरा के जंगली और पहाड़ी क्षेत्रों में ऑपरेशन चला रही है। वहीं जमुई और मुंगेर जिले की सीमा धरहरा, भीमबांध, गुरमाहा आदि इलाके में भी अपह्रत की बरामदगी के लिए ऑपरेशन चलाया जा रहा है। रविवार की सुबह से ही पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार, एएसपी ऑपरेशन अमृतेश कुमार, डीएसपी एसटीएफ विभाष के अलावा एसएसबी के असिस्टेंट कमांडेंट लठिया के जंगल में कैम्प किए हुए थे। वहीं गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ था।

डीलर पिता व पुत्र दोनों को अगवा करने की थी मंशा
डीलर के घर पहुंचे नक्सलियों ने उनके पुत्र दीपक से नाम पूछा और भी घटना को अंजाम दिया। इसके बाद डीलर भागवत मेहता की खोज की जो उस वक्त बाजार में थे। जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि पिता-पुत्र दोनों का अगवा किए जाने की मंशा थी।

ऑटो से आए थे नक्सली, ग्रामीणों का मोबाइल भी अपने साथ लेते गए
शनिवार की शाम महिला दस्ता सहित दर्जनों की संख्या में नक्सली चौकड़ा गांव पहुंचे थे। चौकड़ा गांव पीरी बाजार थाना से महज 500 मीटर की दूरी पर है। नक्सलियों ने हिम्मत कर इस घटना को अंजाम दिया है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सभी हथियारबंद नक्सली अचानक पहाड़ी की तरफ से ऑटो में भरकर आए और रास्ते में मौजूद ग्रामीणों के मोबाइल फोन लेकर अपने साथ ले गए।

गोलीबारी में बाल-बाल बचे पीरीबाजार थानेदार व डीलर
नक्सली गोलीबारी में पीरीबाजार थानाध्यक्ष प्रजेश कुमार दुबे व अपह्रत दीपके के पिता डीलर भागवत मेहता बाल-बाल बचे। नक्सलियों ने उनकी बाइक पर ताबड़तोड़ गोलीबारी की। पीरीबाजार थानाध्यक्ष प्रजेश कुमार दुबे और दीपक के पिता बाल-बाल बच गए। तीन-चार गोली बाइक में लगी। जवाबी कार्रवाई में दोनों तरफ से सैकड़ों चक्र गालियां चली।
मारे गए नक्सली प्रमोद पर नौ मामले दर्ज 
मारे गए नक्सली प्रमोद कोड़ा एक हार्डकोर नक्सली था। वह लठिया कोरासी गांव का रहने वाला था। उसके विरुद्ध नौ कांड दर्ज थे।
दिसबंर 2019 में घोघी से सीपीआई नेता को किया था अगवा
इससे पहले पीरीबाजार थाना क्षेत्र के घोघी गांव से 6 दिसम्बर 2019 की रात नक्सलियों ने 67 वर्षीय किसान सह सीपीआई नेता मदन मोहन सिंह को अगवा कर लिया था। पीरीबाजार थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने दूसरी बार लेवी के लिए अपहरण की घटना को अंजाम दिया है।