दोस्त के साथ घर जा रही 10th क्लास की लड़की के साथ गैंगरेप, बदमाशों ने मोबाइल में बनाया वीडियो

दोस्त के साथ घर जा रही 10th क्लास की लड़की के साथ गैंगरेप, बदमाशों ने मोबाइल में बनाया वीडियो

समस्तीपुर । दो साल पहले 16 सितंबर 2019 को बिहार के नालंदा जिले के राजगीर में विपुलागिरी पर्वत पर एक नाबालिग के साथ जो हुआ, उसे शायद ही कोई भूल पाया होगा। जिस तरह से 7 कुकर्मियों ने 13 साल की एक नाबालिग बच्ची के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया और उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया, उस बच्ची की चीख और गिड़गिड़ाने की आवाज आज भी लोग महसूस करते हैं। ऐसा ही एक और वाकया बिहार के समस्तीपुर जिले में हुआ है। फ्रेंड के साथ घर जा रही लड़की को बीच रास्ते में बंधक बनाकर कुछ बदमाशों ने सामूहिक बलात्कार की घटना को अंजाम दिया।
वारदात समस्तीपुर जिले के विभूतिपुर थाना इलाके की है। यहां बैंक से लौट रही नाबालिग गांव की एक नाबालिग लड़की के साथ कुछ बदमाशों ने गैंगरेप किया और उसका वीडियो मोबाइल में बना लिया। फिलहाल पीड़िता अस्पताल में भर्ती है और जो बयान देने की हालत में नहीं हैं। बताया जा रहा है कि पीड़ित लड़की बैंक जाने की बात कह घर से निकली थी। रात में वह गांव के ही दोस्त के साथ रोसड़ा से एक ही साइकिल से घर लौट रही थी।
इसी बीच सिंघियाघाट पुल पार कर घर की ओर जाने के क्रम में सुनसान स्थान पर घात लगाए युवकों ने उसे घेर लिया। उसके बाद गाछी में ले जाकर उसके दोस्त को बांधकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। बदमाशों ने दुष्कर्म का वीडियो बना पुलिस को मामले की जानकारी देने पर वीडियो वायरल करने की धमकी दी। उनके जाने के बाद पीड़ित लड़की के दोस्त ने साइकिल पर बैठाकर पीड़िता को रात करीब तीन बजे विभूतिपुर थाना लाया और घटना की सूचना दी।
घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए अलग-अलग गांवों के चार लड़कों को हिरासत में लिया है। थानाध्यक्ष राजीवलाल पंडित ने बताया कि पीड़िता को नव नियुक्त एसआई लवली कुमारी और महिला पुलिस बल के सरंक्षण में समस्तीपुर महिला थाना भेजा गया है, जहां से उसे मेडिकल और उपचार के लिए भेजा गया।
इधर महिला थाने ने भी मामले की छानबीन शुरू कर दी है। महिला थानाध्यक्ष विभूतिपुर थाना आकर हिरासत में लिए गए युवकों से भी पूछताछ की है। इस सबंध में डीएसपी एस.अख्तर ने बताया कि जब तक पीड़िता का बयान नहीं आ जाता जब तक कुछ कहा नहीं जा सकता। वैसे हिरासत में लिए गए तीन युवकों से पूछताछ की जा रही है।
गौरतलब हो कि दो साल पहले 16 सितंबर 2019 को बिहार के नालंदा जिले के राजगीर में विपुलागिरी पर्वत पर एक नाबालिग के साथ सात युवकों ने इसी तरह सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था। घटना के एक सप्ताह बाद इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था। इसी साल जनवरी महीने में बिहारशरीफ व्यवहार न्यायालय में पॉक्सो के विशेष न्यायाधीश एडीजे मंजूर आलम ने सभी सातों आरोपियों को दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा दी। साथ ही इनमें से दो को वीडियो वायरल करने के मामले में तीन-तीन साल की अतिरिक्त सजा भी सुनाई गई है। सभी सजाएं साथ-साथ चल रही हैं। 
कोर्ट ने जिन्हें सजा सुनाई है, उसमें मिथुन राजवंशी, करण राजवंशी, रंजन राजवंशी, आशीष राजवंशी, राहुल राजवंशी, राम चौधरी और सोनू कुमार शामिल हैं। सभी राजगीर के रहने वाले हैं।