दबंगों ने डायन का आरोप लगा वृद्धा को पीटा, बचाने गए पति को लाठी-डंडे से पीट-पीटकर मार डाला

दबंगों ने डायन का आरोप लगा वृद्धा को पीटा, बचाने गए पति को लाठी-डंडे से पीट-पीटकर मार डाला

जमुई के अरुणमाबांक गांव की घटना, एक महिला गिरफ्तार, छापेमारी जारी
जमुई । दबंगों ने डायन का आरोप लगाते हुए शनिवार की सुबह करीब 8 बजे एक वृद्ध महिला की जमकर पिटाई की, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। अपनी पत्नी को पीटता देख वृद्ध उसे बचाने गए तो दबंगों ने लाठी, डंडा व टांगी से पीट-पीटकर उसे मार डाला। यह घटना खैरा थानाक्षेत्र के अरुणमाबांक गांव की है। मरने वाले की पहचान जागो पासवान (74 वर्ष) के रूप में हुई है।  बताया जाता है कि 64 वर्षीय सावित्री देवी पर डायन का आरोप लगाते हुए डेढ़ माह पहले भी मारपीट की गई थी। इसे लेकर पति जागो पासवान ने खैरा थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद से सभी आरोपी लगातार केस वापस लेने का दबाब बना रहे थे। केस वापस नहीं लेने पर जान से मारने की भी धमकी दे रहे थे। इसे लेकर पीड़ित ने लगातार पुलिस से शिकायत की लेकिन पुलिस आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। जिससे परेशान होकर वे गांव छोड़कर अपने एक रिश्तेदार के यहां चले गए थे। 

गांव वापस लौटते ही शुरू कर दी मारपीट
कुछ समय तक गांव से बाहर रहने के बाद जब वे लोगपुन: गांव लौटे तो शनिवार को एक बार फिर गांव के ही खिरधर पासवान, मोहन पासवान, बाबूलाल पासवान, मोहन पासवान, मुकेश पासवान, राहुल पासवान, गोलू कुमार, संजय, मनोज, विकास रोहित सहित दर्जनों लोग उसके घर पर पहुंचे और लाठी से सावित्री देवी की पिटाई शुरू कर दी। पत्नी के साथ मारपीट होता देख उसे बचाने के लिए जागो पासवान आगे आए तो आरोपियों ने उसके साथ भी मारपीट शुरू कर दी। इधर, घटना के दौरान ही जागो पासवान के पुत्र सुधीर पासवान ने पुलिस को फोन किया पर पुलिस ने फोन रिसीव नहीं किया। आरोपियों ने मारपीट कर जागो पासवान को अधमरा कर दिया। किसी तरह परिजन घायलावस्था में उसे लेकर सदर अस्पताल पहुंचे लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। सुधीर पासवान के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। शाम को पुलिस ने एक महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस पर लगे आरोपों की होगी जांच 
परिजन अगर पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं तो इसकी जांच कराई जाएगी। आरोप सत्य पाया गया तो आरोपी पदाधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
-पंकज कुमार सिन्हा, डीआईजी, मुंगेर