छोटी बहन की शादी से एक दिन पहले बहन ने की आत्महत्या, शादी टली

छोटी बहन की शादी से एक दिन पहले बहन ने की आत्महत्या, शादी टली

नरकटियागंज । साठी थाना क्षेत्र के धोबनी गांव में शादी का उमंग मातम में बदल गया है। छोटी बहन की शादी के एक दिन पहले ही बुधवार की रात बड़ी बहन रौशन तारा खातून ने फंदा लगाकर मायके में आत्महत्या कर ली है। इस घटना ने परिजनों सहित पूरे गांव को झकझोर कर रख दिया है। घटना के बाद परिजनों ने पोस्टमार्टम से इंकार कर दिया है। गुरुवार को रौशन के मायके में ही उसका अंतिम संस्कार किया गया है। थानाध्यक्ष उदय कुमार ने बताया कि परिजनों द्वारा शव को पोस्टमार्टम कराने से मना कर दिया गया है। परिजनों द्वारा बताया गया कि मुझे कोई कानूनी कार्रवाई नहीं करनी है। जिसका लिखित आवेदन परिजनों ने ग्रामीण पंचों के समक्ष दिया है। साठी थाना के धोबनी गांव निवासी शेख शाकिर ने अपनी बड़ी पुत्री रौशन आरा खातून की शादी पांच साल पहले पुरुषोतमपुर थाना के भेड़ीहारी गांव निवासी शेख असलम के साथ की थी। दोनों से एक चार साल की बेटी एवं दो साल का बेटा भी है। रौशन आरा की छोटी बहन चांद तारा खातून की गुरूवार 28 अक्टूबर को शादी होनी थी। साठी थाना के बेलवा से बारात आ रही थी। इसी शादी में शामिल होने रौशन तारा खातून अपने पति असलम एवं बच्चों के साथ चार पांच रोज पहले आई थी। लेकिन बुधवार की रात रौशन ने अपने गले में फंदा डालकर आत्महत्या कर ली।
बाजार से आते ही कमरे में गई और फंदा लगाकर दे दी जान
परिजन व ग्रामीणों की माने तो रौशन बुधवार की शाम अपने पति असलम के साथ साठी में छोटी बहन की शादी के लिए खरीदारी करने गई थी। वहां से आने के बाद वह घर के अंदर चली गई और असलम अपने ससुर के कामों में हाथ बंटाने लगा। इसी बीच रात में रौशन ने फंदा लगा लिया। रौशन द्वारा गले में फंदा डालकर आत्महत्या कर लिया गया। जिसकी जानकारी के बाद परिजन सहित पूरा गांव गमगीन हो गया। इधर, शेख साकिर ने छोटी बेटी की शादी को आगे बढ़ा दिया है। परिजनों ने बताया कि शादी टल गई है।
असलम को ले गई थी पुलिस
सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने संदेह के आधार पर रौशन के पति असलम को पकड़कर थाना ले गई और पूछताछ करने लगी। लेकिन इसी बीच पहुंचे रौशन के मायके व ससुराल वालों ने कई पंचों के समक्ष असलम को निर्दोष करार देते हुए पुलिस को आवेदन दिया। ग्रामीणों व परिजनों के पहल के बाद पुलिस ने उसे मुक्त कर दिया।