छोटी बहन की गवाही से बड़ी बहन को दुष्कर्म के बाद मार डालने वाले दरिंदे को उम्रकैद

छोटी बहन की गवाही से बड़ी बहन को दुष्कर्म के बाद मार डालने वाले दरिंदे को उम्रकैद

सासाराम । बिक्रमगंज थाना क्षेत्र के न्यू शिक्षक कॉलोनी में दो वर्ष नौ माह पूर्व हुए हत्या, दुष्कर्म एवं जानलेवा हमला से जुड़े एक मामले में सजा के बिंदु पर सुनवाई करते हुए एडीजे प्रथम गोपाल जी की अदालत ने मामले में दोषी पाये अभियुक्त शंभू पांडेय निवासी शिवगढ, बिक्रम, पटना को पंद्रह हजार रुपये अर्थदंड सहित आजीवन कारावास की सजा सुनाई। कोर्ट ने अपने आदेश में उक्त अभियुक्त को भादवी की धारा 302 एवं 376 में दस हजार रुपये अर्थदंड सहित आजीवन कारावास एवं धारा 307 में पांच हजार रुपये अर्थदंड सहित दस साल कारावास की सजा सुनाई है। वहीं कोर्ट ने इस मामले के अन्य आरोपी धीरेंद्र कुमार रंजन को पर्याप्त साक्ष्य के आभाव में रिहा करने का आदेश जारी किया। उक्त मामले की प्राथमिकी बिक्रमगंज थाना कांड संख्या 40/2019 में दर्ज हुई थी।  जिसका ट्रायल उक्त कोर्ट में सत्र वाद संख्या 314/2019 में चल रहा है। अभियुक्त ने दोनों को पहले अपने कमरे में ले गया एवं खाने के लिए मिठाई दिया।
पटना का रहने वाला है आरोपी
इस मामले में अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता लोक अभियोजक चंद्रमा सिंह ने बताया कि उक्त घटना 20 जनवरी 2019 को बिक्रमगंज थाना क्षेत्र के रेलवे स्टेशन के निकट न्यू शिक्षक कॉलोनी महुली स्थित एक मकान में घटी थी। घटनातिथि को मामले के सूचक की दोनों  पुत्रियां घर से सहेली के घर जाने के लिए सुबह 10:30 बजे निकलीं। यह दोनों घटनास्थल स्थित उक्त मकान पर पहुंची जहां उक्त अभियुक्त शंभू पांडेय रहता था। वह पटना बिक्रम का रहनेवाला है।
घटना के बाद भाग गया था रिश्तेदार के घर में था दोषी
इस मामले में पुलिस के सामने घटना के कुछ दिन बाद घायल छोटी बहन ने पुलिस के सामने गवाही देकर आरोपी के खिलाफ कई सबूत दिए। उस आधार पर पुलिस ने अनुसंधान आगे बढ़ाया। फिर उसकी गिरफ्तारी भी हुई। जिस मकान में घटना घटी वह आरोपी के रिश्तेदार का था। जहां वह देखरेख के बहाने रहता था। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी बड़ी बहन बहन का शव और घायल अवस्था में बेहोश छोटी बहन को छोड़ भाग निकला था। बाद में हल्का होश हुआ तो छोटी बहन बदहवास भागते हुए चिल्ला कर लोगो को घटना की जानकारी दी। इसके बाद स्थानीय लोगों ने बच्ची को अस्पताल पहुंचाया।
शोर मचाने पर गला काट कर डाली थी युवती की हत्या 
दोषी पाया गया शख्स छोटी बहन को कमरे से बाहर बैठा कर बड़ी बहन से दुष्कर्म करने लगा एवं उसके द्वारा हल्ला मचाने पर बड़ी बहन का गला काटकर हत्या कर दी। शोर शराबा सुनकर छोटी बहन ने अभियुक्त से बड़ी बहन के बारे में पूछने पर उसने छोटी बहन पर उसी चाकू से जानलेवा  हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। काफी इलाज के बाद बच्ची खतरे से बाहर आई थी।
पुलिस ने उसे काफी मशक्कत के बाद ढूंढ़ निकाला था 
इस मामले में अभियोजन पक्ष के तरफ से चिकित्सक एवं अनुसंधानकर्ता सहित कुल पंद्रह गवाहों की गवाही हुई थी। जिसके बाद कोर्ट ने अभियुक्त को दोषी पाते हुए उक्त सजा सुनाई है। स्थानीय लोगों ने बताया कि उक्त आरोपी जब घटना को अंजाम दिया तब वह अपने रिश्तेदार के घर में आया हुआ था। घटना को अंजाम देने के बाद वह फरार हो गया था। पुलिस ने उसे काफी मशक्कत के बाद ढूंढ़ निकाला था।