छोटे बेटे को पूरी संपत्ति देने के लालच में मां पर बड़े बेटे की हत्या का आरोप, पटरी किनारे मिली थी लाश

छोटे बेटे को पूरी संपत्ति देने के लालच में मां पर बड़े बेटे की हत्या का आरोप, पटरी किनारे मिली थी लाश

लखीसराय । छोटे बेटे को कुल संपत्ति देने की लालच में मां पर बड़े बेटे की हत्या करवाने का सनसनीखेज आरोप लगा है। मां-बेटे के रिश्ते को शर्मसार करने वाला यह मामला सूर्यगढ़ा थाना क्षेत्र के जजबारा गांव से सामने आया है। जजबारा निवासी स्वर्गीय राजेश्वरी सिंह के बड़े पुत्र संतोष कुमार (33 वर्ष) की लाश बाढ़ में रेलवे ट्रैक के किनारे मिली। मृतक संतोष की पत्नी सोनी, 8 वर्षीय पुत्र रौशन और चचेरे ससुर मोहन सिंह ने शव की पहचान की। 
संतोष की पत्नी सोनी, उनकी बहन रेशमी कुमारी और चचेरे ससुर मोहन सिंह ने बताया कि संतोष की मां तानो देवी और छोटे भाई विपुल ने पांच दिन पहले जजबारा से संतोष को इलाज के लिए पटना लेकर गए थे। मां ने छोटे बेटे विपुल को संपत्ति देने की लालच में उसकी हत्या कर दी। बाढ़ स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक के किनारे संतोष का शव मिला, जिसे बाढ़ रेल पुलिस ने शव को अपने कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए पटना भेज दिया है। लाश मिलने के बाद से मां और छोटा भाई फरार है। मृतका की पत्नी और उसके ससुर ने कहा कि संतोष का पटना में किसी भी डॉक्टर के यहां इलाज नहीं कराया। जब हमलोगों ने पटना में अधिकांश डॉक्टर के यहां पड़ताल की तो पता चला कि उनका इलाज नहीं कराया गया। इसके बाद मृतक की पत्नी और उनके परिजनों के बीच हत्या की आशंका हुई। उन्होंने कदमकुआं पटना में अपने पति की गुमशुदगी के संबंध में रिपोर्ट लिखवाया।
21 को मां और भाई ने संतोष के गायब होने की सूचना दी
मृतक की पत्नी ने बताया कि 21 को सास और देवर ने सौजपुरा थाना दुल्हिन बाजार पटना आकर संतोष के गायब होने की बात कही थी। जबकि बाढ़ पुलिस ने 21 सितंबर को ही जीआरपी ने रेलवे ट्रैक के किनारे संतोष की लाश बरामद किया। शव मिलने के बाद देवर विपुल कुमार और सास तानो देवी फरार हो गई है। उसी बाढ़ गांव में विपुल कुमार का ससुराल है।
सास और देवर दहेज के लिए करते थे प्रताड़ित
मृतक की पत्नी सोनी कुमारी, उनकी बहन रेशमी कुमारी और चचेरे ससुर मोहन सिंह ने मोबाइल पर बताया कि मृतक संतोष कुमार की मां तानो देवी अपने छोटे बेटे विपुल कुमार को संपत्ति देने की लालच में बड़े पुत्र संतोष कुमार की हत्या करवा दी। संतोष की शादी पटना के दुल्हिन बाजार थाना अंतर्गत सौजपुरा गांव में सोनी के साथ 2011 में हुई थी। शादी के बाद से ही उनके सास तानो देवी और छोटे देवर विपुल कुमार बराबर दहेज के खातिर प्रताड़ित करते आ रहे थे। सोनी को एक 8 वर्षीय संतान रौशन कुमार है।
3 साल से घर पर था संतोष नशे की गोली देने का आरोप
संतोष पुणे में एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। पत्नी सोनी ने बताया कि सास और देवर दो साल से नशे की गोली खिलाकर पति को बेहोशी की हालत में रखा करते थे। सास और देवर ने मुझे ससुराल से दो वर्ष पूर्व ही भागा दिया था। मंर और मेरे पुत्र अपने मायके में रह रही हूं। उनके पति को मां और देवर ने बीमारी होने का बहाना बनाकर इलाज के बहाने पटना, बेगूसराय ले जाया जाता था।