घर में नाबालिग जोड़े को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा, जबरन कराई दोनों की शादी

घर में नाबालिग जोड़े को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा, जबरन कराई दोनों की शादी

मधुबनी  । साहरघाट थाना क्षेत्र के एक गांव में एक नाबालिग जोड़े की शादी जबरन कराए जाने का मामला सामने आया है। चाइल्ड हेल्पलाइन को शिकायत मिलने के बाद टीम ने लड़की और लड़के के घर पहुंचकर मामले की जांच की। मिली जानकारी के अनुसार, सोमवार की रात एक नाबालिग लड़की के घर में एक नाबालिग लड़का पकड़ा गया। इसके बाद कुछ लोगों ने बाल विवाह कानून को ताख पर रखकर मंगलवार को पंचायत की और फिर मंदिर में नाबालिग जोड़े की जबरन शादी करवा दी गई। इसका फोटो व वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वायरल वीडियो में पंचायत व शादी का दृश्य है जिसमें सरकारी कर्मी विकास मित्र समेत कई नामचीन लोग जबरन शादी की सहमति के लिए लड़का व लड़की पक्ष पर दवाब बनाते दिख रहे हैं। चाइल्ड हेल्पलाइन को इसकी शिकायत मिली। इसके आधार पर बुधवार को चाइल्ड हेल्पलाइन सब सेंटर जयनगर के समन्वयक तारानंद ठाकुर के नेतृत्व में टीम ने मामले की जांच की जिसमें दोनों के नाबालिग होने की पुष्टि हुई। इस संबंध में तारानंद ठाकुर ने बताया कि शादी जबरन कराई गई है। जांच में यह स्पष्ट हो गया है कि लड़की का उम्र 15 व लड़का का 17 वर्ष है। जांच में न तो घर के लोग व न ही स्थानीय ग्रामीण सहयोग कर रहे हैं। शादी होने के बाद से ही लड़की और लड़का के गायब होने की जानकारी लड़का के परिजनों ने दी है। ऐसे में अब वो लोग अनुमंडल पदाधिकारी और थानाध्यक्ष से जांच कर कार्रवाई के लिए पत्र लिखने का काम करेंगे। टीम में क्यू मेंबर वकील यादव व सविता देवी शामिल थी। वहीं, इस मामले को लेकर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चा है।
लोगों ने जैसे ही जोड़े को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा तो उसके बाद से ही शादी के लिए दबाव बनाया जाने लगा। शादी के लिए पंचायत बैठाई गई और इसके बाद शादी कराई गई। वहीं, यह मामला चाइल्ड हेल्पलाइन की टीम की जांच के बाद पूरी तरह से गरमा गया है। चाइल्ड हेल्पलाइन की ओर से इस मामले में अब पुलिस और प्रशासन को सूचना दी जाएगी जिसके बाद यह मामला पंचायत से निकलकरी कानूनी बन जाएगा। वहीं, जांच के आगे बढ़ने पर पंचायत करने वालों और नाबालिग जोड़े की जबरन शादी करवाने में शामिल लोगों की मुसीबत बढ़ सकती है और उनपर कार्रवाई हो सकती है।
लड़का और लड़की दोनों हो गए गायब
जांच के लिए पहुंची चाइल्ड हेल्पलाइन की टीम ने बताया कि लड़का पक्ष की ओर से नाबालिग जोड़े की गायब होने की सूचना दी गई है। हालांकि यह जांच को प्रभावित करने का प्रयास है। जांच में यह बात पूरी तरह से स्पष्ट हो गई है कि दोनों नाबालिग है और यह शादी पूरी तरह से गैरकानूनी है। एक सभ्य समाज में इस तरह की हरकतों को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। किसी भी पंचायत को कानून को अपने हाथ में लेकर कानून से खेलने का अधिकार नहीं है। ऐसे लोगों पर ठोस कार्रवाई होने के बाद ही समाज से इस तरह की समस्या दूर होगी।