उपद्रवियों ने मुखिया प्रत्याशी श्वेता सिंह की स्कॉर्पियो फूंकी, सास के साथ जान बचाकर भागना पड़ा

उपद्रवियों ने मुखिया प्रत्याशी श्वेता सिंह की स्कॉर्पियो फूंकी, सास के साथ जान बचाकर भागना पड़ा

बिक्रमगंज । वरूना गांव में घुसते ही वहां की मुखिया प्रत्याशी श्वेता सिंह की स्कॉर्पियो को उपद्रवियों ने फूंक दिया। दस से पंद्रह चक्र गोलियां भी चली। शिवपुर पंचायत के निवर्तमान मुखिया अमित सिंह की पत्नी श्वेता सिंह इस बार प्रत्याशी हैं। जो एक समर्थक राजकुमार राय के श्रार्द्ध में शामिल होने के लिए दोपहर वरूना गांव में पहुंची थी। साथ चार-पांच गाड़ियों का काफिला था। मुखिया प्रत्याशी की गाड़ी सबसे आगे निकल गई। जबकि पीछे की एक स्कॉर्पियो गांव में घुसते ही कुछ लोगों द्वारा रोक लिया। कहा जाता है कि बाइक को साइड देने और गाड़ी पर बंधे स्पीकर से निकल रहे प्रचार की ऊंची आवाज को बंद करने के लिए यह विवाद बढ़ा। चालक से कुछ लोगों ने मारपीट की। इसी बीच कुछ युवक वहां पहुंचे और गाड़ी में आग लगा दिए। दोनों तरफ से गोलीबारी शुरू हो गई। घटना की जानकारी मिलने के बाद मुखिया प्रत्याशी श्वेता सिंह भी वहां आ पहुंची। तब तक स्कॉर्पियो जल चुकी थी।
कौन हैं श्वेता सिंह
श्वेता सिंह मूल रूप से झारखंड के बोकारो की रहने वाली हैं। स्पोर्ट्स एक्टिविटीज से जुड़ी रहती हैं। खुद भी खिलाड़ी रही हैं। अमित सिंह से इन्होंने प्रेम-विवाह किया है। अब अपने ससुराल में भी स्कूली बच्चों के बीच स्पोर्ट्स कम्पीटिशन का आयोजन कराती रहती हैं।

श्वेता सिंह ने कहा- विरोधियों की साजिश 
मुखिया प्रत्याशी श्वेता सिंह ने इस घटना के लिए चुनाव मैदान में उतरे विरोधियों की साजिश को कारण करार दिया है। कहा है कि एक महिला प्रत्याशी की गाड़ी में आग लगाना और काफिले पर गोलियां चलाना गिरी हुई राजनीतिक सोच है। प्रशासन इस मामले की गंभीरता से जांच कर मुझे न्याय दिलाए। 
आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेज 
वरूना गांव में श्वेता सिंह की स्कॉर्पियो जलाए जाने के बाद आरोप प्रत्यारोप का दौर तेज हो गए हैं। कुछ ग्रामीणों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया है कि बीच रास्ते में खड़ी स्कार्पियो को हटाने के लिए हुई बात पर विवाद हुआ है। आग किसने लगाई किसी ने देखा नहीं। ग्रामीणों ने दोनों तरफ से गोलियां चलने का दावा किया है। फिलहाल इस दावेदारी के बीच वरूना गांव और शिवपुर पंचायत में तनाव व्याप्त है। पुलिस कैंप कर रही है। 

चुनाव में पुरानी रंजिश के कारण तनाव की संभावना 
लगातार दो बार मुखिया रहे अमित सिंह ने तीसरी बार चुनाव में अपनी पत्नी श्वेता सिंह को उतारा है। जिसमें अमित सिंह के पुराने विरोधियों द्वारा इस चुनाव में पुरानी रंजिश निकालने की पूरी संभावना है। हालांकि प्रशासन ने बेहद चुनौती पूर्ण तरीके से इस मामले को देखते हुए शिवपुर पंचायत के चुनाव में बल की अतिरिक्त तैनाती करने का निर्णय लिया है। एसडीपीओ शशि भूषण सिंह के अनुसार चुनाव के दिन परिंदा भी पर नहीं मार सकता।