उज्बेक युवतियों के साथ पकड़ाए बिहारी लड़के, भारत-नेपाल बॉर्डर से 3 लड़कियां, 2 युवक अरेस्ट; सोशल मीडिया पर हुआ था प्यार

उज्बेक युवतियों के साथ पकड़ाए बिहारी लड़के, भारत-नेपाल बॉर्डर से 3 लड़कियां, 2 युवक अरेस्ट; सोशल मीडिया पर हुआ था प्यार

अररिया । पुलिस ने भारत-नेपाल बॉर्डर से 3 विदेशी युवतियों और बिहार के दो युवकों को हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि ये युवक उनको दिल्ली ले जाने की तैयारी में थे। पुलिस जांच में खुलासा हुआ है कि ये तीनों पहले नेपाल आईं। यहां से अररिया पहुंचीं। अररिया से दोनों युवकों के साथ दिल्ली रवाना होने वाली थीं। पुलिस इन लोगों का दिल्ली-उज्बेकिस्तान कनेक्शन खंगाल रही है।
नेपाल और भारत क्षेत्र में सुरक्षा एजेंसी के हत्थे चढ़ी युवतियों को उज्बेकिस्तान से बुलाकर अवैध रूप से भारत में नेपाल के रास्ते प्रवेश करवाकर दिल्ली ले जाने की बात कॉमन रूप से सामने आई है।
अररिया एसपी हृदय कांत के बताया कि उज्बेक युवतियों का अवैध रूप से भारतीय सीमा में प्रवेश करना अपराध की श्रेणी में आता है। पासपोर्ट और वीजा की जानकारी लेने पर पता चला है कि यह नेपाल टूरिस्ट वीजा पर घूमने आई थीं। भारतीय सीमा में बिना वैध कागजात के प्रवेश कर इन्होंने कानून का उल्लंघन किया है। भाषा को लेकर पूछताछ में थोड़ी परेशानी हो रही है। पुलिस दोनों युवकों से पूछताछ कर रही है।

फेसबुक पर हुआ था प्यार
बसमतिया निवासी मो. इस्माइल ने बताया कि दोनों को फेसबुक पर प्यार हुआ था। इसके बाद उन लोगों की बातचीत होती रही। इसी क्रम में प्रेमिका को नेपाल आने के लिए कहा तो वे अपने अन्य महिला साथियों संग नेपाल आई थीं। जिसे घुमाने के लिए अपने गांव ले जा रहा था। इसी क्रम में SSB (सशस्त्र सीमा सुरक्षा बल) ने पकड़ लिया।
पुलिस की जांच में पता चला है कि तीनों युवतियों को हिंदी बोलना नहीं आता है और न ही इस्माइल को उज्बेकिस्तान के भाषा की जानकारी है। इस कारण उनके प्यार की कहानी पर पुलिस को शक है।
एसएसबी ने बुधवार देर शाम पकड़ा था
हिरासत में लिए गए युवक-युवतियां ऑटो में सवार होकर भारतीय सीमा क्षेत्र में प्रवेश कर रहे थे। इस दौरान जवानों ने तलाशी ली, जिसमें विदेशी महिलाओं सहित दो भारतीय युवक थे। एसएसबी जवानों ने तीनों युवतियों की सघन जांच की, जिसमें उज्बेकिस्तान का पासपोर्ट मिला। पासपोर्ट के आधार पर एक का नाम युसुपोभा डायना पिता रावशन किजी उम्र 18 वर्ष, दूसरी का नाम राजाबोवा स्मिगुल पिता सुनातुल्ला किजी उम्र 23 वर्ष और तीसरी का नाम राजाबाभा इनोबैट पिता सुनातुल्ला 20 वर्ष पता चला है।
तीनों युवतियों की पहचान पासपोर्ट के आधार पर काश्काडारिया उज्बेकिस्तान के रूप में हुई। दोनों युवकों की पहचान नरपतगंज क्षेत्र के बसमतिया वार्ड दो के 24 वर्षीय मो. इस्माइल तथा वार्ड 8 निवासी 19 वर्षीय सरोज कुमार पिता उमेश साह के रूप में हुई।
पिछले 7 माह में 5 विदेशी युवती पकड़ाईं
पिछले 7 महीनों में 5 विदेशी युवतियां पकड़ाई गई हैं। इनकी उम्र 18 से 22 वर्ष के बीच है। ये पांचों उज्बेकिस्तान की रहने वाली हैं। गुरुवार को 3 विदेशी युवतियों के पकड़ाने से 7 माह पहले भी 2 विदेशी युवतियां पकड़ाई थीं। इसमें से एक नेपाल पुलिस की अभिरक्षा में है, जबकि दूसरी सुपौल जेल में है।
इधर, पुलिस ने अबतक इन पांचों के साथ पिता-पुत्र समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया। ताज्जुब की बात यह है कि ये पांचों बिहार के अररिया जिले के बसमतिया गांव के रहने वाले हैं।