आरा में छुट्टी पर घर आए सेना के लांसनायक की हत्या सुबह में टैंपू में मिला शव

आरा में छुट्टी पर घर आए सेना के लांसनायक की हत्या सुबह में टैंपू में मिला शव

आरा । फौज से छुट्टी में अपने गांव आए एक सैनिक की रविवार की रात गला दबाकर हत्या कर दी गई। सुबह में सैनिक का शव गांव में कुछ दूरी पर एक टेंपो में पड़ा मिला। मृतक मुकेश कुमार, ईमादपुर के जनेश्वर यादव का पुत्र था। मृतक की उम्र करीब 30 वर्ष थी। मुकेश फौज में लांस नायक के पद पर मेरठ में पदस्थापित था। वह 13 जून को एक माह की छुट्टी पर घर आया था।  परिजनों के अनुसार रविवार की रात वह करीब दस बजे भोजन करने के बाद टहलने के लिए घर से बाहर निकला था। लेकिन घर नहीं लौटा। सोमवार की अहले सुबह घर से कुछ ही दूरी पर महादलित टोला में टेंपू में पड़ा शव पडा़ हुआ पाया गया। इधर घटना की जानकारी होते ही लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस को कुछ देर के लिए ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। लेकिन कुछ बुद्धिजीवियों के बीच-बचाव के बाद ग्रामीणों का आक्रोश शांत हुआ। पुलिस ने मौके से शव को आरा भेजकर पोस्टमार्टम कराया। मृत फौजी के पिता ने कहा कि मेरे बेटे की हत्या की गई है। पुलिस से अपराधियों के बारे में पता लगाकर कार्रवाई करने का गुहार लगाया हूं।

मुकेश दो भाइयों में छोटा था। मुकेश के पिता भी सेना की नौकरी से सेवानिवृत्त हुए हैं। बड़ा भाई सेना में नौकरी करता है। मुकेश की नौकरी 2008 मे हुई थी। नौकरी के दो वर्ष बाद 2010 में जेठवार गांव में संगीता से शादी हुई थी। जिससे 6 वर्ष की सृष्टि तथा ढाई साल का एक बेटा है। मौत से परिजनों को रो- रोकर बुरा हाल हो गया है।  मृत फौजी की मां सोना देवी एक तरफ दहाड़ मारकर रो रही थी। जिसे सांत्वना देने के लिए मुहल्ले की महिलाएं काफी जुटी हुई थी।

घर से कुछ दूरी पर हुई सैनिक की हत्या
टेंपू में पड़े फौजी के शरीर मे गोबर और मिट्टी लगा हुआ था। परिजनों को आशंका है कि गला दबाकर हत्या कर बगल में  टेंपू में शव को अपराधियों ने रख दिया हो, ताकि रात के समय किसी को पता नहीं चले। फौजी के गले मे सोने की चेन और महावीरी लॉकेट गायब है। जबकि उसका मोबाइल फोन उसके पास से ही मिला है। परिजनों ने बताया कि शव के साथ चप्पल और गर्दन में फंसा गमछी फौजी का नहीं है। सैनिक का घर से घटनास्थल की दूरी करीब 200 मीटर है। आशंका है कि गांव से बाहर स्टेट हाइवे 81 के समीप महादलित टोला पास घटना को अंजाम दिया गया। ग्रामीणों ने बताया कि पुलिस की लापरवाही कहिए या तालमेल के कारण शराब का धंधा काफी जोरो पर होता है। इस कारण जिले में अक्सर अपराध की घटनाएं होती रहती हैं।


डीएसपी अशोक कुमार आजाद ने बताया कि घटना का कारण अभी स्पष्ट नही हुआ है। मृतक के पास से मोबाइल मिला है। मृतक 10 बजे रात में महादलित टोला में किस लिए गया था। प्रेम-प्रसंग, कही किसी से पैसा का लेनदेन को लेकर पूर्व में विवाद सहित अन्य कई बिंदुओं पर जांच की जा रही है।