अररिया में मेला देख लौट रहे थे 5 दोस्त, कार गड्ढे में गिरी, सभी की मौत

अररिया में मेला देख लौट रहे थे 5 दोस्त, कार गड्ढे में गिरी, सभी की मौत

अररिया। अनंत चतुर्दशी का मेला देखकर लौट रहे पांच दोस्तों की कार पानी भरे गड्ढे में जा गिरी और देखते ही देखते सभी की डूबने से मौत हो गई। सभी लोग इसी कार में सवार थे। दिल दहला देने वाली यह घटना मंगलवार की अहले सुबह करीब 3-4 बजे पलासी थाना के डाला गांव वार्ड-4 में मैना-कलियागंज मार्ग के तीखे मोड़ पर हुई। बताया जाता है कि पांचों दोस्त पलासी के गेरारी गांव में अनंत चतुर्दशी मेला में डांस देखकर कलियागंज की ओर जा रहे थे। पांचों दोस्त पूर्णिया में किसी नर्सिंग होम में काम करते थे और पार्टनर भी थे। स्थानीय लोगों के मुताबिक ड्राइवर ने गाड़ी पर से संतुलन खो दिया और कार सड़क किनारे पानी से भरे गड्ढे में जा गिरी। तेज आवाज सुनकर वे लोग घटनास्थल पर पहुंचे और सभी को कार से बाहर निकाला, लेकिन तब तक पांचों की मौत हो चुकी थी। आसपास के लोगों के आने पर मृतकों की पहचान हुई। मरने वालों में पलासी प्रखंड के लौखड़ा निवासी कलानंद मंडल (28 वर्ष) पिता जगतलाल करदार, गेरारी निवासी सुनील करदार (31 वर्ष) पिता जगतलाल करदार, मझवा के सुनील मंडल (26 वर्ष) पिता राजकुमार मंडल, चौरी के धनंजय साह (26 वर्ष) पिता राजेंद्र साह व कुर्साकांटा प्रखंड के चिकनी गांव के नवीन साह (30 वर्ष) पिता उपेंद्र साह शामिल हैं। नवीन साह व धनंजय साह बहनोई-साला थे। 

मृतक के परिजनों को मिलेगा 4-4 लाख रुपए मुआवजा
घटना की सूचना मिलते ही पलासी बीडीओ, सीओ व थानेदार पहुंचे और शवों को पोस्टमार्टम के लिए अररिया भेजा। दोपहर बाद पानी से कार को निकाला गया। घटना की जानकारी मिलते ही सांसद प्रदीप कुमार सिंह, डीएम प्रशांत कुमार सीएच, सदर एसडीओ शैलेश चंद्र दिवाकर, एसडीपीओ पुष्कर कुमार भी अस्पताल पहुंचे और घटना की जानकारी ली। सरकारी प्रावधान के अनुसार मृतक के परिजनों को 4-4 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।