अनुमंडलीय अस्पताल त्रिवेणीगंज में बिना चादर के बिस्तर पर सोने के लिए मजबूर हैं मरीज

अनुमंडलीय अस्पताल त्रिवेणीगंज में बिना चादर के बिस्तर पर सोने के लिए मजबूर हैं मरीज

त्रिवेणीगंज/- प्रशांत कुमार- अपने अजब-गजब कारनामों को लेकर सुखियों में रहने वाले त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय अस्पताल फिर सुर्खियों में है।अब हाल ऐसी हो गई है कि मरीजों को बेड पर बिछाने के लिए चादर नहीं मिल रही है।करोड़ो के वित्तिय अनियमितता के दाग अपने नाम लिए अस्पताल के प्रशासन ने मरीजों को तमाम सुविधाएं देने के खोखले दाबे तो करती है, लेकिन अस्पताल के किसी भी मरीज के बेड पर चादर नहीं है। ऐसे में मरीजों को या तो घर से चादर लानी पड़ रही है या फिर बिना चादर के ही लेटना पड़ रहा है

सरकारी सुविधाओं का दावा करता अनुमंडलीय अस्पताल मरीजों का कितना ध्यान रखता है इसकी एक बानगी यह भी देखी जा सकती है कि अस्पताल के किसी भी बेड पर चादर नहीं है।मरीजों को लेकर परेशान परिजन सुविधाओं की कमी होने पर अपस्पताल प्रशासन से चिढ़ जाते है।मरीज के परिजनों का कहना है कि चादर मांगने पर भी अस्पताल प्रशासन चादर नहीं देता है, जिससे रोगी को काफी दिक्कत होती है। अपस्पताल में चादर नहीं होने के कारण मरीजों के परिजन अब अपने घरों से ही चादर लेकर आते हैं।त्रिवेणीगंज अस्पताल में सुविधाओं और चादर के सवाल पर सीएस डॉ. इंद्रजीत प्रसाद ने कहा कि अस्पताल के बिस्तरों पर चादर होने चाहिए इसके लिए हम अनुमंडलीय अस्पताल के चिकित्सा प्रभारी से बात करते है।